Insight मंगल ग्रह की सतह पर हुआ लैंड, उतरते ही भेजी एक ‘सेल्फी’: NASA

Insight मंगल ग्रह की सतह पर हुआ लैंड, उतरते ही भेजी एक 'सेल्फी': NASA

Insight मंगल ग्रह की सतह पर हुआ लैंड, उतरते ही भेजी एक ‘सेल्फी’: NASA

आपको बता दे की नासा का पहला रोबोटिक लैंडर InSight स्पेसक्राफ्ट आखिरकार मंगल ग्रह पर लैंड हो गया है. InSight सोमवार-मंगलवार की रात भारतीय समयानुसार 1 बजकर 24 मिनट पर लाल ग्रह की सतह पर पहुंचा.

इनसाइट ने ग्रह पर लैंड करते ही एक फोटो भेजी. लेकिन बताया गया कि अभी क्राफ्ट का लेंस कवर हटा नहीं था. इसके बाद फिर इनसाइट ने अपनी एक तस्वीर भेजी. जिसमें मंगल की सतह और आसमान और इनसाइट का एक हिस्सा देखा जा सकता है.

नासा ने इस लैंडिंग का लाइव स्ट्रीम किया. इस स्पेसक्राफ्ट की मदद से नासा पहली बार मंगल ग्रह के रहस्यों को सुलझाने की कोशिश करेगा. इस स्पेसक्राफ्ट का मिशन है- मंगल ग्रह की जमीन और निचली सतहों की गहन जांच करना.

बता दे की यह स्पेसक्राफ्ट ग्रह की सतह पर उतरने के दौरान 19,800 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से छह मिनट के भीतर शून्य की रफ्तार पर आ गया. इसके बाद इसने पैराशूट से बाहर आकर लैंड किया.

छह महीने की यात्रा के बाद InSight ने मंगल की सतह पर लैंड किया है. इस मिशन में 1 बिलियन डॉलर यानी 70 अरब रुपए का खर्च आया है. सौर ऊर्जा और बैटरी से ऊर्जा पाने वाले लैंडर को 26 महीने तक काम करने के लिए डिजाइन किया गया है. हालांकि NASA को उम्मीद है कि यह इससे अधिक समय तक चलेगा.

नासा ने कहा कि InSight अपनी जांच के लिए ग्रह की सतह पर 10 से 16 फुट गहरा सुराख करेगा. यह इससे पहले के मंगल अभियानों की तुलना में 15 गुना अधिक गहरा होगा.

नासा 2030 तक मंगल पर इंसानों को भेजना चाहता है, इसके लिए उसे मंगल के तापमान और वातावरण को समझना जरूरी है. इनसाइट इन 26 महीनों में ये सभी जानकारियां जुटाने की कोशिश करेगा.

रोजाना कॉफी पीये और डायबिटीज को कहे अलविदा…

वैसे काम काफी मुश्किलों भरा है पर नासा ने अगर कहा है तो वो इसको सफल बनाने की कोशिश ज़रूर करेगा.

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password