200 करोड़ से सजा महालक्ष्मी का दरबार

रत्नपुरी का माणकचोक स्थित’ 351 साल प्राचीन महालक्ष्मी का दरबार करोडो के श्रंगार से दमकने लगा ! जन जन की आस्था का केंद्र बना महालक्ष्मी का श्रंगार के चर्चे देश ही नहीं विदेशो तक विख्यात हो गए है धनतेरस के दिन ब्रह्म मुहर्त में श्रंगार दर्शन के लिए द्वार खोल दिए जायेंगे स्वर्ण मुद्रा से अद्भुत अलोकिक अकल्पनीय श्रंगार को हजारो धर्मालु पांच दिन तक निहारेगे ! कुबेर के खजाने में भरे स्वर्ण आभूषण , नोटों की गद्दियो , हीरे मोतियों से भरे मा का भव्य श्रंगार 200 करोड़ के पार हो गया !

जिनपिंग चाहते है की पाकिस्तान और भारत के संबंध फिर से सुधारे

मुख्य पुजारी ने बताया की श्रंगार में लगने वाले  स्वर्ण आभूषण , नोटों की गद्दियो , हीरे मोतियों  आदि के लाने का सिलसिला देर रात तक चलता रहता है धनतेरस की सुबह ब्रह्म मुहर्त ने माता के श्रंगार के दर्शनार्थ आरती के बाद सूबह 4.30 से 6 के मध्य मंदिर के पट खोल दिए जाते है !

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password