रक्षा बजट 50 लाख करोड़ होने के बावजूद जंग होने पर चीन-रूस से हार का खतरा: अमेरिका

रक्षा बजट 50 लाख करोड़ होने के बावजूद जंग होने पर चीन-रूस से हार का खतरा: अमेरिका

रक्षा बजट 50 लाख करोड़ होने के बावजूद जंग होने पर चीन-रूस से हार का खतरा: अमेरिका

आपको बता दे की पचास लाख करोड़ रुपए का रक्षा बजट होने के बावजूद अमेरिका सैन्य संकट से जूझ रहा है। अगर जंग हुई तो वह चीन और रूस से हार सकता है। अमेरिकी संसद की एक समिति ने बुधवार को यह चेतावनी दी। कांग्रेस (संसद) ने नेशनल डिफेंस स्ट्रैटजी कमीशन को डोनाल्ड ट्रम्प की नेशनल डिफेंस स्ट्रैटजी (एनडीएस) का अध्ययन करने को कहा था। एनडीएस से ही अमेरिका का चीन और रूस से शक्ति संतुलन तय होता है।

अमेरिका के मिलिट्री में बजट की कमी

अमेरिकी सेना के बजट में कटौती की जा रही है। सैनिकों को मिलने वाली सुविधाओं में भी कमी की गई है। वहीं चीन और रूस जैसे देश अमेरिका की ताकत कम करने की कोशिश कर रहे हैं।

सूत्रों के अनुसार कमीशन के मुताबिक- अमेरिका की सेना ही उसे दुनिया में सबसे शक्तिशाली बनाती है। लेकिन अब सैन्य ताकत में ही गिरावट आ रही है। 21वीं सदी में अमेरिका का फोकस आतंकरोधी अभियानों पर ज्यादा है। लिहाजा हमारा मिसाइल डिफेंस, साइबर-स्पेस ऑपरेशन, जमीन और पनडुब्बी से होने वाले हमले रोकने की क्षमता कम हुई है।

सक्षम प्रतिद्वंद्वियों खासकर चीन और रूस के खिलाफ सैन्य अभियानों के लिए योजना बनाने और उनके संचालन के लिए कौशल की जरूरत है। लेकिन अमेरिका इसमें कमजोर पड़ रहा है। दोनों बड़ी पार्टियों (डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन) ने रणनीति पर कुछ खास काम नहीं किया। 2011 से ही सैन्य बजट में कटौती होने लगी।

एक बड़ा सवाल: अमेरिका दुश्मनों से कैसे निपटेगा

मनाली और नारकंडा में पारा शून्य से नीचे पहुंचा, सीजन की पहली बर्फबारी

नेशनल डिफेंस स्ट्रैटजी के मुताबिक, पेंटागन सही दिशा में काम कर रहा है। हालांकि पैनल की रिपोर्ट में कहा गया है कि अब भी बड़ा सवाल यही है कि अमेरिका दुश्मनों की तरफ से मिल रही चुनौतियों से कैसे निपटेगा?

संसदीय पैनल की रिपोर्ट में यह भी कहा गया है- पूरे एशिया, यूरोप में अमेरिकी प्रभाव में कमी आई है। सैन्य संतुलन भी बदला है, इसके चलते जंग का जोखिम बढ़ गया है। आने वाली लड़ाइयों अमेरिकी सेना को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password