घृत कुमारी के फायदे जानकर हैरान रह जायेंगे आप

एलोवेरा (घृत कुमारी) एक औषधीय पौधा है। इसका सेवन हमारी शरीर के लिए बहुत स्वस्थवर्धक है। ये बहुत सारे रोगों के लिए एक कारगर दवा है। इसे ग्वारपाठा के नाम से भी जानते हैं। ये पौधा हरे रंग का गूदेदार और कांटेदार होता है। इसको प्राचीन काल से ही औषधि के रूप में प्रयोग में लाया जा रहा है और इससे अनेक प्रकार के रोग ठीक होते हैं। इसके अंदर का भाग सफ़ेद रंग का, चिपचिपा एवं लचीली प्रकृति का होता है।

IND vs AUS: कल से शुरू है भारत का ऑस्ट्रेलियाई दौरा

इसकी खेती हमारे देश में नहीं बल्कि विदेशों में भी की जाती है और ये अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और नाइजीरिया में भी पाया जाता है लेकिन भारत में इसकी खेती व्यापक स्तर पर होती है। जिसका मुख्य कारण इसके औषधीय गुण हैं। इस पौधे का ऊपरी हिस्सा पतला, नुकीला और कांटेदार होता है एवं निचला हिस्सा मोटा और गूदेदार होता है। कभी कभी इसका प्रयोग घर और बग़ीचे की सजावट सजावट के लिए भी किया जाता है। इसका सेवन करने से कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता और यह पोषक तत्वों जैसे अमीनो एसिड, विटामिन, जिंक, आयरन, पोटेसियम, मैग्नीज़ और कैल्शियम इत्यादि भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

एलोवेरा (घृत कुमारी) के फायदे

पाचन शक्ति बढ़ाने में – अनियमित दिनचर्या और बदलते परिवेश के कारण आजकल लोगों को पाचन से सम्बंधित समस्याएं जैसे गैस, अपच, पेट दर्द और एसिडिटी हमेशा बनी रहती हैं। शहद और नींबू को एलोवेरा के रस में मिलाकर पीने से पाचन रोग ठीक हो जाते हैं।

हड्डियों को मज़बूत बनाने में – शरीर में रक्त की कमी होने पर सांसे पहले हड्डियां कमज़ोर होने लगती हैं। रक्त की कमी के कारण रक्तसंचार की गति धीमी हो जाती है जिससे शरीर में सूजन, पैरों में ऐंठन, और जोड़ों के दर्द की समस्या हो जाती है। ऐसी स्थिति में, यदि एलोवेरा के गूदे को हल्दी के साथ मिलाकर हल्का गर्म कर लें और शरीर में जहाँ पर भी दर्द हो वहां पर 15 दिनों तक लगाएं। आपको इन सारी परेशानियों से राहत मिलेगी।

ह्रदय रोग के उपचार में – आज के परिवेश में हमारे देश में एक बड़ी जनसंख्या ह्रदय रोगों से जूझ रही है। जिसका कारण अनियमित जीवन शैली है। खानपान में अत्यधिक तेलीय पदार्थों के सेवन से ह्रदय में कोलेस्ट्रॉल का स्तर अधिक जाता है। जिसकी वजह से धमनियों में रक्त का प्रवाह अवरुद्ध होने लगता है और ह्रदय शरीर में रक्तप्रवाह सामान्य रूप से नहीं कर पाता और अन्तः ये ह्रदय आघात जैसी गंभीर बीमारियों को जन्म देती है।

मोटापा घटाने में – पूरी दुनिया में लोग अपने शरीर के बढ़ते वजन को लेकर परेशान रहते हैं। यहाँ तक कि वजन को कम करने के लिए खाना भी कर देते हैं। आइये हम आपको इस समस्या का समाधान बताते हैं। एलोवेरा के गूदे को रोज़ खाने से जल्द ही आपका वजन संतुलित हो जायेगा और पेट की चर्बी घाट जाएगी।

त्वचा को सुन्दर बनाने में – इसके सफ़ेद भाग (गूदा) को चेहरे में 15 मिनट तक लगाकर रखने से चेहरा बहुत चमकने लगता है एवं त्वचा सुन्दर हो जाती है। इसके गूदे को खाने से कील-मुहांसे ठीक हो जाते हैं।

आँखों के डार्क सर्किल दूर करने में – एलोवेरा को रोज़ाना आँखों के नीचे 5 से 10 मिनट तक लगाकर रखने से काले घेरे दूर हो जाते हैं। जिससे आपकी आँखें आकर्षक दिखने लगती हैं।

सर्दी-जुकाम और खांसी में – इसके रस को शहद के साथ मिलाकर रात में खाने से बच्चों को सर्दी-जुकाम और खांसी से राहत मिलती है।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password